Friday, 11 August 2017

खुशी से गीत साजन गुनगुनाना है


हमे तो अब  ख़ुशी से खिलखिलाना है 
सुमन उपवन पिया अब तो खिलाना है
मिली  है  ज़िन्दगी अब  मुस्कुराओ तुम
ख़ुशी  से  गीत  साजन   गुनगुनाना  है 
,

मीत आज ज़िन्दगी हमें  रही पुकार है
रूप देख ज़िन्दगी खिली यहां बहार है
पास पास  हम रहें मिले ख़ुशी हमें सदा
छोड़ना न हाथ आज छा रहा खुमार है

रेखा जोशी